पर्यटन

केन्द्रीय पर्यटन मंत्री डॉ. महेश शर्मा से श्री बघेल की मुलाकात

डॉ महेश शर्मा,राकेश चतुर्वेदी,दयालदास बघेल

छत्तीसगढ़ सरकार संस्कृति और पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल ने नई दिल्ली में केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री डॉ. महेश शर्मा से सौजन्य मुलाकात की। केन्द्रीय पर्यटन और संस्कृति मंत्री को छत्तीसगढ़ में पर्यटन सुविधाओं के विकास के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। उन्होंने राज्य में प्रस्तावित दो प्रमुख पर्यटन परिपथ (टूरिस्ट सर्किट) के बारे में भी डॉ. शर्मा से विचार-विमर्श किया। इनमें से एक परिपथ जगदलपुर-चित्रकोट-बारसूर-दन्तेवाड़ा के लिए और दूसरा रतनपुर से मैनपाट के लिए प्रस्तावित है।

छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थलों का विकास

आदिवासी घोटूल,आदिवासी,घोटूल,

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल ने कहा है कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थलों को और विकसित किया जाएगा, पर्यटन एवं संस्कृति विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय काम-काज की समीक्षा की।छत्तीसगढ़ में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और इसे बढ़ावा देने हर संभव प्रयास किया जाएगा। पर्यटन के क्षेत्र में नये कार्यों को प्राथमिकता दी जाएगी और पर्यटकों को आकर्षित करने के भी उपाय किए जाएंगे।

संगई पर्यटन पर्व

केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री डॉ महेश शर्मा ने कहा कि देश में उग्रवाद पर अंकुश लगाने के एक कारगर माध्यम के रुप में पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगा। इंफाल में संगई पर्यटन पर्व के समापन अवसर पर कहा कि पर्यटन मंत्रालय देश में एक बड़े पर्यटन गंतव्य के रुप में पूर्वोत्तर राज्यों को बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रयास करेगा। उन्होंने कहा कि "विविध वनस्पतियों एवं जीव जंतुओं के कारण पूर्वोत्तर की एक महत्वपूर्ण पर्यटन गंतव्य के रुप में विकसित हो सकता है। पर्यटन क्षेत्र के आर्थिक विकास में उल्लेखनीय योगदान दे सकता है।"

स्वतंत्रता दिवस की बधाई

पर्यटन प्रोत्साहन कार्यक्रम

भारत सरकार का पर्यटन मंत्रालय अपनी 'अतुलनीय भारत' अभियान के अंतर्गत हर वर्ष अंतर्राष्ट्री य बाजार में प्रिंट, इलेक्ट्रो निक, ऑनलाइन और आउटडोर मीडिया अभियान के अंतर्गत प्रचार सामग्री जारी करता है। इसका उद्देश्य0 देश के विभिन्नअ पर्यटन लक्ष्योंा और उत्पा।दों को प्रोत्सा हित करना और भारत आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्याल बढ़ाना है। इसके अतिरिक्त विदेश स्थित भारतीय पर्यटन कार्यालयों के जरिए अनेक प्रोत्साहन गतिविधियां भी संचालित की जाती हैं ताकि भारतीय पर्यटन की संभावनाओं को उजागर किया जा सके और देश में पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सके। इन गतिविधियों में मेलों और प्रदर्शनियों में हिस्सा लेना, रोड

हुनर से रोजगार तक के कार्यक्रम है-इदरीस

 इदरीस गाँधी,राहुल गाँधी, rahulgandhi,india,idris,

'हुनर से रोजगार तक'' (एचएसआरटी) कार्यक्रम
समाज के आर्थिक रूप से कमजोर तबके से संबंधित 18 से 28 साल तक की उम्र तक के लिए रोजगारोपयोगी कौशल सृजन का मूल उद्देश्‍य सत्कार और पर्यटन क्षेत्र को प्रभावित कर रहे कौशल अंतर को कम करने के साथ – साथ यह सुनिश्चित करना था कि पर्यटन से गरीबों को आर्थिक लाभ पहुंचे। इस कार्यक्रम के तहत पर्यटन मंत्रालय की आर्थिक सहायता से 6 से 8 सप्ताह के लघु अवधि के कार्यक्रम चलाये जाते हैं।इन कार्यकमो में ............
· मानव संसाधन विकास के लिए पहल
· मानव संसाधन विकास मंत्रालय की मध्‍याह्न भोजन योजना - खानसामों और सहायकों का प्रशिक्षण

धार्मिक पर्यटन स्थल कैलाशगुफा

आदिवासी समाज के पुजनिय गुरू भगवान गहिरागुरू ने 25 दिन में बिना अस्त्र-शस्त्र के खोदा था विशाल गुफा
अम्बिकापुर -‘‘छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थलों में एक खुबसुरत धार्मिक स्थल कैलाश गुप्ता जो छत्तीसगढ़ के जिला सरगुजा से 80 किलो मीटर की दूरी पर स्थित है। आप एक बार यहां पहुंचे कि यहां कि खुशबूदार हवा, फाउन्टेन, मनमोहक झरने, पहाड़ों और दूर-दूर तक फैली हरीयाली आपकी आखों के सामने नैसर्गिक सौन्दर्य का संसार प्रस्तुत कर देगी। इस धार्मिक पर्यटन स्थल की तमाम खुबियों को बयां करती यह रिपोर्ट।’’

हि‍मालय पर्यटन को बढ़ावा

हि‍मालय पर्यटन को बढ़ावा देने नए अभि‍यान की घोषणा-पर्यटन मंत्री श्री के.चि‍रंजीवी ने एक नए अभि‍यान की शुरूआत की ताकि हि‍मालय जैसे अनोखे पर्यटन को अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर बढ़ावा दि‍या जा सके। इस अभि‍यान को भारतीय हि‍मालय के 777 दि‍न का नाम दि‍या गया है। इसके दो उद्देश्‍य हैं- पहला, व्‍यस्‍त गर्मी के मौसम में अधि‍क से अधि‍क अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटकों को आकर्षित करना और दूसरा, लोगों को यह बताना कि‍73 प्रति‍शत हि‍मालय क्षेत्र भारत में आता है।बैठक में रोमांचक पर्यटन की व्‍यवस्‍था करने वाले संघ (एटीओएआई) के प्रति‍नि‍धि‍ उपस्थि‍त थे। मैदानी क्षेत्रों के अलावा हि‍मालय क्षेत्र में भी पर्यटन की आपार क

पर्यटन विकास के प्रयासों की प्रशंसा

केन्द्रीय पर्यटन मंत्री और दक्षिण भारत के सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता श्री के.चिरंजीवी ने छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में पर्यटन सुविधाओं के विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों की प्रशंसा की है। उन्होंने जर्मनी की राजधानी बर्लिन में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन मेले में छत्तीसगढ़ सरकार के पर्यटन मंडल की भागीदारी की भी तारीफ की है। केन्द्रीय मंत्री श्री चिरंजीवी से कल बर्लिन में छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार राय और पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव श्री के.डी.पी.

नारायणपुर गोंडी संस्कृति का केन्द्र

नारायणपुर क्षेत्र से आए ग्रामीणों के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से मुलाकात की। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से नारायणपुर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मोटल बनवाने का आग्रह किया। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को बताया कि नारायणपुर गोंडी संस्कृति का केन्द्र है। यह अबूझमाड़ का प्रवेश द्वारा है। यह बस्तर की परम्परागत लोक कला और हस्तशिल्प का भी एक महत्वपूर्ण केन्द्र है। टेराकोटा, लकड़ी, बांस शिल्प जैसी कलाकृतियों का निर्माण स्थानीय कलाकारों द्वारा किया जाता है।

Pages

Subscribe to RSS - पर्यटन